गरीबों के प्रति हमारी संवेदनाएं और अधिक तीव्र होनी चाहिए। हमारी मानवता का वास इस बात में है कि कही पर भी कोई गरीब दुखी-भूखा नजर आता है तो इस संकट की घड़ी में हम पहले उसका पेट भरेंगे। ये हिंदुस्तान कर सकता है, ये हमारे संस्कार और हमारी संस्कृति है: पीएम मोदी

MannKiBaat

गरीबों के प्रति हमारी संवेदनाएं और अधिक तीव्र होनी चाहिए।

हमारी मानवता का वास इस बात में है कि कही पर भी कोई गरीब दुखी-भूखा नजर आता है तो इस संकट की घड़ी में हम पहले उसका पेट भरेंगे।

ये हिंदुस्तान कर सकता है, ये हमारे संस्कार और हमारी संस्कृति है: पीएम मोदी #MannKiBaat

गरीबों के प्रति हमारी संवेदनाएं और अधिक तीव्र होनी चाहिए। हमारी मानवता का वास इस बात में है कि कही पर भी कोई गरीब दुखी-भूखा नजर आता है तो इस संकट की घड़ी में हम पहले उसका पेट भरेंगे। ये हिंदुस्तान कर सकता है, ये हमारे संस्कार और हमारी संस्कृति है: पीएम मोदी #MannKiBaat

Let's Connect

sm2p0