हिन्दू समाज को पाकिस्तान में खुलकर जीने का अधिकार नहीं था त्योहार खुलकर मनाने की नहीं थी आजादी बहुत-बेटियों का जबरदस्ती किया जाता था धर्म परिवर्तन बच्चों को स्कूलों में कलमा पढ़ने के लिए किया जाता था मजबूर क्या कुछ नहीं सहा इन लोगों ने, सुनिए उनकी ही जुबानी

IndiaSupportsCAA

हिन्दू समाज को पाकिस्तान में खुलकर जीने का अधिकार नहीं था

त्योहार खुलकर मनाने की नहीं थी आजादी

बहुत-बेटियों का जबरदस्ती किया जाता था धर्म परिवर्तन

बच्चों को स्कूलों में कलमा पढ़ने के लिए किया जाता था मजबूर

क्या कुछ नहीं सहा इन लोगों ने, सुनिए उनकी ही जुबानी

#IndiaSupportsCAA

हिन्दू समाज को पाकिस्तान में खुलकर जीने का अधिकार नहीं था त्योहार खुलकर मनाने की नहीं थी आजादी बहुत-बेटियों का जबरदस्ती किया जाता था धर्म परिवर्तन बच्चों को स्कूलों में कलमा पढ़ने के लिए किया जाता था मजबूर क्या कुछ नहीं सहा इन लोगों ने, सुनिए उनकी ही जुबानी #IndiaSupportsCAA

Let's Connect

sm2p0