1941 में श्रद्धेय डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी पहली बार वित्त मंत्री बने और 1942 में उन्होंने पद से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने कभी पद को कभी महत्वपूर्ण नहीं समझा। हमेशा विचार को महत्व दिया और विचार के लिए पूरा जीवन समर्पित कर दिया: श्री J.P.Nadda

SyamaPrasad4OneIndia

1941 में श्रद्धेय डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी पहली बार वित्त मंत्री बने और 1942 में उन्होंने पद से इस्तीफा दे दिया।

उन्होंने कभी पद को कभी महत्वपूर्ण नहीं समझा। हमेशा विचार को महत्व दिया और विचार के लिए पूरा जीवन समर्पित कर दिया: श्री J.P.Nadda #SyamaPrasad4OneIndia

1941 में श्रद्धेय डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी पहली बार वित्त मंत्री बने और 1942 में उन्होंने पद से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने कभी पद को कभी महत्वपूर्ण नहीं समझा। हमेशा विचार को महत्व दिया और विचार के लिए पूरा जीवन समर्पित कर दिया: श्री J.P.Nadda #SyamaPrasad4OneIndia

Let's Connect

sm2p0